Monday, 19 September 2011


7 comments:

  1. अभिव्यक्त विचार अच्छे हैं। वस्तुतः सांप्रदायिकता साम्राज्यवाद की सहोदरी है और जब तक साम्राज्यवाद पर प्रहार नहीं होगा सांप्रदायिकता विरोधी बात केवल ढोंग ही रहेगी ।

    ReplyDelete
  2. हिन्दी ब्लाग संसार में आपका स्वागत है बधाई और शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  3. श्री कांति प्रसाद जी

    आइए आइए …
    ब्लॉग जगत में आपका स्वागत है !

    ♥ हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !♥
    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  4. हिन्दी ब्लॉगजगत के स्नेही परिवार में इस नये ब्लॉग का और आपका मैं संजय भास्कर हार्दिक स्वागत करता हूँ.

    संजय भास्कर
    आदत….मुस्कुराने की
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    ReplyDelete
  5. ... नवरात्री की हार्दिक शुभकामनाएं....
    आपका जीवन मंगलमयी रहे ..यही माता से प्रार्थना हैं ..
    जय माता दी !!!!!!

    ReplyDelete